हिंदीकोश

हिंदीकोश में आपका स्वागत है।

हिंदीकोश प्रगति पर है। नये प्रकाशन के लिए पुनः पधारे।

हिंदीकोश 20 वर्षों से हिंदी के सेवा में


निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल

उद्देश्य

हिंदीकोश परियोजना का उद्देश हिंदी एवं उर्दू भाषा और दर्शन साहित्य को डिजिटल फॉर्म में प्रकाशित करना है। इस प्रकार से यह अनमोल साहित्य विश्व में सभी को आसानी से उपलब्ध हो जाएगा और सबके लिए उपयोगी होगा।

इच्छुक व्यक्ति इन पुस्तकों और संपूर्ण पाठ्य साम्रगी को इंटरनेट पर आसानी से ढूँढ सकते है।

हिंदीकोश की सभी पुस्तकें आर्काब्स.कॉम पर उपलब्ध है।


कॉपीराइट के बारे में

हिंदीकोश पर प्रकाशित होने वाली सभी पुस्तके कॉपीराइट मुक्त है या कॉपाीराइट मुक्त होनी चाहिए। फिर भी इन्हें प्रयोग करने से पूर्व अपने देश में लागू कॉपीराइट नियमों के बारे में जान ले।

अगर हिंदीकोश पर प्रकाशित किसी पुस्तक का कॉपीराइट आपके पास है और आप उस पुस्तक को हटाना चाहते है, कृपया हमे बताएं।


पुनश्च

हिंदीकोश पर प्रकाशित होने वाली पुस्तकों के प्रकाशन में सब प्रकार की सावधानी बरती जाती है। फिर भी, पुस्तक में किसी भी प्रकार की त्रुटि या भूलचूक या उसके उपयोग से होने वाले किसी भी नुकसान के लिए हिंदीकोश उत्तरदायी नहीं होगा।

पाठकों से निवेदन है कि पुस्तक में किसी भी प्रकार की त्रुटि अथवा सुधार के लिए अपने सुझाव हमें जरूर भेंजे।

आपका संजय;


हिंदी साहित्य
 उर्दू साहित्य  दर्शन (फिलास्फी)

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें